सोमवार, मई 20, 2024
होम jurisprudence

jurisprudence

समकालीन न्यायशास्त्र का स्कूल 

यह लेख Suresh Sharma द्वारा लिखा गया है। यह लेख न्यायशास्त्र (ज्यूरिस्प्रूडेंस) के सभी स्कूलों के विश्लेषण और मानव जाति के लिए इनकी उपयोगिता...

न्यायशास्त्र के दायरे की जानकारी

यह लेख कोलकाता पुलिस लॉ स्कूल की Smaranika Sen ने लिखा है। यह लेख न्यायशास्त्र (ज्यूरिस्प्रूडेंस) की अवधारणा से संबंधित है। इस लेख का...

न्यायशास्त्र में कब्जे की अवधारणा और सिद्धांत

यह लेख हिदायतुल्ला नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के द्वितीय वर्ष के छात्र Subodh Asthana ने लिखा है। इस लेख में लेखक ने विभिन्न प्रख्यात विद्वानों...

न्यायशास्त्र के प्राकृतिक स्कूल के प्रमुख समर्थक

इस लेख में लेखक ने न्यायशास्त्र (ज्यूरिस्प्रूडेंस) के प्राकृतिक स्कूल के कुछ प्रमुख समर्थकों के सिद्धांतो के बारे में बताया है। इस लेख का...

अधिकारों के सिद्धांत: होहफल्ड के अधिकारों के विश्लेषण का अवलोकन

यह लेख यूनाइटेड वर्ल्ड स्कूल ऑफ लॉ, कर्णावती विश्वविद्यालय, गांधीनगर की छात्रा Kishita Gupta द्वारा लिखा गया है। यह लेख अधिकारों के सिद्धांतों के...

निर्णीत अनुसरण का सिद्धांत

यह लेख रमैया इंस्टीट्यूट ऑफ लीगल स्टडीज से बीबीए एलएलबी कर रही छात्रा Sneha Mahawar ने लिखा है। यह लेख निर्णीत अनुसरण (स्टेयर डेसाइसिस)...

न्यायशास्त्र के तहत अधिकारों और कर्तव्यों की अवधारणा

यह लेख बनस्थली विद्यापीठ की Richa Goel ने लिखा है। इस लेख में, उन्होंने कानूनी अधिकारों और कर्तव्यों की अवधारणा पर चर्चा की है।...

विधिशास्त्र का परिचय

यह लेख  Arkodeep Gorai द्वारा लिखा गया है, जिन्होंने कानून के क्षेत्र में विधिशास्त्र (ज्यूरिस्प्रूडेंस) का संक्षिप्त विवरण दिया है। इस लेख का अनुवाद...

न्यायशास्त्र में कानून के सभी स्रोत 

यह लेख तिरुवनंतपुरम के गवर्नमेंट लॉ कॉलेज की छात्रा Adhila Muhammed Arif ने लिखा है। यह लेख न्यायशास्त्र (ज्यूरिस्प्रूडेंस) में कानून के स्रोतों (सोर्सेज),...

सामाजिक संविदा सिद्धांत

यह लेख पंजाब के गुरु नानक देव विश्वविद्यालय की छात्रा Nidhi Bajaj ने लिखा है। इस लेख में, उन्होंने सामाजिक संविदा (सोशियल कॉन्ट्रैक्ट) का...

कानूनी यथार्थवाद और कानूनी प्रत्यक्षवाद

यह लेख निरमा विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ के छात्र Vividh Jain ने लिखा है। इस लेख में, लेखक 'कानूनी यथार्थवाद (लीगल रियलिज्म)' और...

ऑस्टिन्स सोवर्निटी थ्योरी और इसका मॉडर्न इंडिया के पॉलिटिकल और लीगल एन्वाइरन्मेंट से संबंध 

यह लेख दिल्ली मेट्रोपॉलिटन एजुकेशन के छात्र Anubhav Garg ने लिखा है। इस लेख में, उन्होंने जॉन ऑस्टिन की सोवर्निटी थ्योरी और भारत के...
- Advertisment -Submit articles and win INR 2000*. Also reach our 10 million a year audience.
Advertise on iPleaders Blog

Most Read